Thursday, 6 February 2014

ज़िन्दगी .... एक सफरनामा

Life keeps moving and so we people. Hence, thought to write a journey through which everybody goes in life. Some time you really think that till-date how much or what you have achieved and how much life has given you. Though when we come to this earth, our hands are empty but the fingers form a fist signifying to hold..to survive...& when we are dying, again our hands are empty but this time we have an open palm..signifying you have lived and now its time to leave everything. All these I have tried to say in poetic form...hope you all could relate..& do give your opinions..


ज़िन्दगी .... एक सफरनामा :

थोडा पढ़ा-लिखा और काफी कुछ सीखा ,
ज़िन्दगी को जी , ज़िन्दगी से बहुत कुछ सीखा ..
एक सफ़र जो शुरू किया था ,
घर से दूर हो कर एक मंज़िल को तय किया था ..!
छोड़ के बचपन की गलियाँ ,
वो माँ के हाथों से सजी फूलों की क्यारियाँ ,
चला था एक मुकाम के लिए ..!
छोड़ के लड़कपन का साथ ,
वो पिता के नियमों को तोड़ने की शैतानियाँ ,
चला था उस मंज़िल के लिए ..!

कदम जो रखा नए से शहर की भींड में ,
भूल सा गया था खुद को उस चकाचौंध की नींद में ..
अनजान से शहर में तो कई लोग साथ थे ,
लेकिन सब मग्न थे आगे पहुँचने की होड़ में ..!
सफ़र कटता रहा और ज़िन्दगी बसर होती रही ,
रोज़ की दौड़ धुप में मंज़िल के तरफ कदम बढ़ती रही ..
कभी हार तो कभी जीत से मुलाक़ात होती रही ,
हर मोड़ पे आगाज़ और अंजाम की परछाई साथ चलती रही ..!

एक पल ठहर के सोचा देखूँ क्या हासिल किया अब तक ,
क्या खोया क्या पाया इस ज़िन्दगी में अब तक ..!
आँखें बंद की और मुट्ठियों को खोल दिया ,
सुना आकाश दिखा और हथेली खाली थी अब तक ...!
पूछा खुदा से ये कैसा सफ़र है ,
सब कुछ मिला फिर भी कुछ हासिल क्यूँ नहीं है ..
खुदा ने बस इतना कहा ये ही तो वो ज़िन्दगी है , 
जहाँ तेरी ही ज़िन्दगी तेरी हो कर भी तेरी नहीं है ...!! 

Lot of things came into mind while writing this, not everything was possible to write but still I tried to include every possible thing. Since Life never stops so we have to keep moving with a clear determination & commitment..You never know how far you can reach..may be more than sky..or stars..Keep Rocking..Always!!

Be Blessed & Be Happy!


Pic Courtesy : Self-Clicked

6 comments:

  1. Dilkash.... hope this journey to continue !!!

    ReplyDelete
    Replies
    1. Shukriya Abhijeet Bhai!! Definitely it will go on...& on!

      Delete
  2. SAB SE BADI SACHAI YE HI HAI BAHUT KHOOB KAHA
    खुदा ने बस इतना कहा ये ही तो वो ज़िन्दगी है ,
    जहाँ तेरी ही ज़िन्दगी तेरी हो कर भी तेरी नहीं है ..BAHUT ACHE

    ReplyDelete
    Replies
    1. Bahut Bahut Shukriya Pammi Ji! Exactly...Kudrat ki yehi sabse badi sachhai hai...

      Delete
  3. Very meaningful and in depth! you're pretty good! God bless

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thnq Divita for the lovely comments!! B blessed! :)

      Delete

About Me

My photo
India
Complicated माहौल में simple सा बंदा हूँ। दूरियाँ तो जायज़ है फिर भी ऐसे हमेशा करीब हूँ। कुछ लिख कर, कुछ पढ़कर, सबसे कुछ सीख कर, अकेला ही सही, एक मंज़िल के लिए निकला हूँ।