Friday, 16 October 2015

बदलते वक़्त...

आज ज़माने में हर किसी के अंदाज़ बदले हैं..
कोई नज़र-अंदाज़ है तो कोई मसरूफ़ियत में बदले हैं..

सब अपनी अहमियत से बखूबी वाकिफ़ हैं..
इस मिजाज़ में सब एक दूजे से मिले बगैर बदले हैं..

इंसान हूँ और तमाम जद्दोजहद है ज़हन में..
इस खुमारी में हर किसी के तेवर बदले हैं..

2 घडी बेवफ़ाई को तू भी आज़मा ले ऐ साक़ी..
यहाँ तो हमराज़ ने भी कई बिस्तर बदले हैं...!!

Aaj zamaane mein har kisi ke andaaz badle hain..
Koi nazar-andaaz hain to koi masrufiyat mein badle hain..

Sab apni ahmiat se bakhubi waaqif hain..
Is mijaaz mein sab ek duje se mile bagair badle hain..

Insaan hun aur tamaam jaddojahad hai zehan mein..
Is khumaari mein har kisi ke tevar badle hain..

2 ghadi bewafayi ko tu bhi aazmaa le ae saaqi..
Yahaan to humraaz ne bhi kai bistar badle hain..!

#Abhilekh

About Me

My photo
India
Complicated माहौल में simple सा बंदा हूँ। दूरियाँ तो जायज़ है फिर भी ऐसे हमेशा करीब हूँ। कुछ लिख कर, कुछ पढ़कर, सबसे कुछ सीख कर, अकेला ही सही, एक मंज़िल के लिए निकला हूँ।